एसबीआई का 4,000 करोड़ रु. के टियर-2 बॉन्ड अगले हफ्ते


 












भास्कर दत्ता / मुंबई September 15, 2022






भारतीय स्टेट बैंक अगले हफ्ते टियर-2 बॉन्ड के जरिये 4,000 करोड़ रुपये जुटा सकता है। उधारी की ठोस मांग के बीच पूंजी की मजबूती के लिए एसबी​आई यह कदम उठा रहा है। सूत्रों ने यह जानकारी दी। एसबीआई ने 7 सितंबर को 7.75 फीसदी की कटऑफ दर पर 6,872 करोड़ रुपये के अतिरिक्त ​टियर-1 बॉन्ड बेचे थे, जो इस वित्त वर्ष में किसी बैंक की सबसे कम कटऑफ दर है।

जुलाई में एसबीआई के निदेशक मंडल ने अतिरिक्त ​टियर-1 बॉन्ड व टियर-2 बॉन्ड के जरिए 11,000 करोड़ रुपये तक जुटाने की योजना की मंजूरी दी थी ताकि नियामकीय अनिवार्यताओं का अनुपालन हो सके और कारोबारी रफ्तार को सहारा मिले। पिछले कुछ महीनों में बैंकों ने पूंजी जुटाने व कर्ज की मजबूत मांग के वित्त पोषण के लिए एटी-1 बॉन्ड पर काफी जोर दिया है।

कई वजहों मसलन कम आपूर्ति, सॉवरिन बॉन्ड प्रतिफल में गिरावट और बीमा कंपनियों की दिलचस्पी से एटी-1 बॉन्डों की मांग मजबूत रही है और इन प्रतिभूतियों की कटऑफ दर तेजी से नीचे आई है। इससे बैंकों को डेट कैपिटल मार्केट सस्ती दरों पर पहुंचने में मदद मिली है। बुधवार को केनरा बैंक ने 7.99 फीसदी की दर पर एटी-1 बॉन्ड के जरिए 2,000 करोड़ रुपये जुटाए और इस साल अब तक बैंक इसके जरिए 4,000 करोड़ रुपये जुटा चुका है।

केनरा बैंक के बॉन्ड को शामिल करते हुए विभिन्न बैंकों ने इस वित्त वर्ष में अब तक एटी-1 बॉन्ड से 20,736 करोड़ रुपये जुटा लिए हैं। पिछले वित्त वर्ष में बैंकों ने 42,800 करोड़ रुपये के एटी-1 बॉन्ड बेचे थे। सूत्रों ने कहा कि पंजाब नैशनल बैंक भी एटी-1 के जरिए डेट कैपिटल मार्केट में लौट रहा है और 19 सितंबर को उसकी योजना 1,000 करोड़ रुपये के बॉन्ड जारी करने की है, जिसके साथ 500 करोड़ रुपये के अतिरिक्त आवेदन को बनाए रखने का विकल्प है। इससे पहले 4 जुलाई को पीएनबी ने 8.75 फीसदी की कटऑफ दर पर एटी-1 बॉन्ड जारी कर 2,000 करोड़ रुपये जुटाए थे। एसबीआई के ​​टियर-2 बॉन्ड की परिपक्वता अवधि 10 साल की हो सकती है और पांच साल बाद इसके साथ कॉल ऑप्शन होगा। बड़े  संस्थागत निवेशकों मसलन ईपीएफओ आदि से इसकी मजबूत मांग देखने को मिल सकती है।

एक सूत्र ने कहा, ईपीएफओ की रुचि टियर-1 बॉन्ड में नहीं है, ऐसे में  वह निश्चित तौर पर एसबीआई का टियर-2 बॉन्ड ले सकता है।

Keyword: भारतीय स्टेट बैंक, पूंजी, एसबी​आई, बीमा, कटऑफ दर, कारोबारी,,


























Source link

Leave a Reply