धीमी चाल, जी का जंजाल! ऐसे कैसे जितोगे T20 वर्ल्ड कप, भारत की स्लो बैटिंग ने दी टेंशन

[ad_1]

नई दिल्ली: अगले महीने 16 अक्टूबर से शुरू होने वाले आईसीसी टी20 वर्ल्ड कप से पूर्व भारतीय क्रिकेट बोर्ड (बीसीसीआई) की एशिया कप को लेकर हुई समीक्षा बैठक में सात से लेकर 15 ओवर के बीच भारतीय बल्लेबाजों के प्रदर्शन पर चिंता जताई गई। भारत वर्ल्ड कप में अपना पहला मैच 23 अक्टूबर को अपने चिर प्रतिद्वंदी पाकिस्तान के खिलाफ मेलबर्न में खेलेगा। बीसीसीआई ने सोमवार को वर्ल्ड कप तथा 20 सितंबर से ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के खिलाफ होने वाले छह टी20 मैचों के लिए टीम घोषित की।

एशिया कप पर समीक्षा
टीम चयन के अलावा हालांकि बैठक में बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह तथा राष्ट्रीय चयन समिति ने एशिया कप के दौरान राष्ट्रीय टीम के खराब प्रदर्शन पर भी चर्चा की। बीसीसीआई के एक सूत्र ने बताया, ‘हां, एशिया कप के प्रदर्शन पर चर्चा की गई। निश्चित तौर पर समस्याओं की बजाए समाधान पर ध्यान दिया गया तथा इस पर चर्चा हुई कि टी20 वर्ल्ड कप के दौरान किन क्षेत्रों में सुधार की जरूरत है।’ सभी ने इस पर सहमति जताई की बेहतर टीमों के खिलाफ भारत का बीच के ओवरों में अपनाया गया रवैया चिंता का विषय है और एशिया कप में इससे टीम को नुकसान हुआ। अधिकारी ने कहा, ‘बीच के ओवरों में बल्लेबाजी एक मुद्दा था विशेषकर सातवें से लेकर 15 ओवर के बीच बल्लेबाजी जिसमें एशिया कप में हमने अच्छा प्रदर्शन नहीं किया। टीम थिंक टैंक इससे अवगत है और हमारे पास कुछ विश्व स्तरीय खिलाड़ी हैं जो टीम की जरूरतों के अनुसार अपना खेल बदल सकते हैं।’

हॉन्ग कॉन्ग के खिलाफ भी सुस्त
यदि सातवें से लेकर 15वें ओवर के बीच भारतीय बल्लेबाजों के प्रदर्शन पर गौर करें तो पाकिस्तान के खिलाफ पहले मैच में उन्होंने नौ ओवरों में 59 रन बनाए और तीन विकेट गंवाए। यहां तक कि हॉन्ग कॉन्ग के खिलाफ भी इन ओवरों में केवल 62 रन बने जबकि पाकिस्तान के खिलाफ सुपर-4 के मैच में भी इन ओवरों में 62 रन बनाए गए और इस बीच भारत ने एक विकेट खोया। इन नौ ओवरों में भारत ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन श्रीलंका के खिलाफ किया। तब उसने इन ओवरों में 78 रन बनाए थे।

संजू को आगे मिलेगा मौका
चयन समिति की बैठक से पहले चर्चा थी कि ऋषभ पंत की जगह संजू सैमसन को 15 सदस्यीय टीम में शामिल किया जा सकता है लेकिन उनके नाम पर चर्चा तक नहीं की गई। संजू के नहीं चुने जाने के बाद सोशल मीडिया पर कई क्रिकेट फैंस ने नाराजगी भी जताई। चयन समिति के इस फैसले पर बीसीसीआई सूत्रों ने कहा, ‘संजू साउथ अफ्रीका के खिलाफ वनडे में खेलेगा क्योंकि चयनकर्ता जिंबाब्वे दौरे के बाद निरंतरता बनाए रखना चाहेंगे। इसके अलावा पंत को बाहर करने पर चर्चा नहीं हुई। वह शीर्ष क्रम में बाएं हाथ का एकमात्र बल्लेबाज है और जब उसका बल्ला चलता है तो वह अपने दम पर मैच जीत सकता है।’

Babar Azam Cover drive: स्कूल में बाबर के कवर ड्राइव पर सवाल, पाकिस्तान के क्लास 9 के फिजिक्स सिलेबस में आजमSachin Tendulkar vs Brian Lara: आज तेंदुलकर और लारा के बीच घमासान, 15 साल बाद टकराएंगे दोनों दिग्गज

[ad_2]

Source link

Leave a Reply