फिच ने भारत की आर्थिक विकास दर को 7.8 फीसद से घटा कर किया 7 प्रतिशत


नीतिगत दरें निकट भविष्य में चरम पर होंगी- फिच
बीएस वेब टीम / नई दिल्ली September 15, 2022






वैश्विक रेटिंग एजेंसी फिच ने वित्त वर्ष 2022-23 (FY23) के लिए भारत की आर्थिक विकास दर को घटाकर 7 प्रतिशत कर दिया है। जून 2022 में फिच ने भारत आर्थिक विकास दर के अनुमान को 7.8 प्रतिशत बताया था। 

फिच ने कहा, “भारतीय अर्थव्यवस्था ने 2022 में 13.5 प्रतिशत की वृद्धि दर्ज की लेकिन ये हमारे जून तिमाही में किए गए अनुमान, जो कि 18.5 प्रतिशत था, उससे कम रही। फिच ने आगे कहा कि वैश्विक आर्थिक पृष्ठभूमि, उच्च मुद्रास्फीति और सख्त मौद्रिक नीति को देखते हुए ये अनुमान है कि भारत की अर्थव्यवस्था की दर धीमी हो जाएगी।”

फिच का मानना ​​है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) साल के अंत से पहले दरों को बढ़ाकर 5.9 फीसदी करना जारी रखेगा। रेटिंग एजेंसी ने कहा, “इसलिए हम उम्मीद करते हैं कि नीतिगत दरें निकट भविष्य में चरम पर होंगी और अगले साल पूरे 6 प्रतिशत पर बनी रहेंगी।”

फिच के ब्रायन कॉल्टन और पावेल बोरोव्स्की ने वैश्विक अर्थव्यवस्था के अपने नए मूल्यांकन में लिखा है, “यूरोपीय गैस संकट, उच्च मुद्रास्फीति और वैश्विक मौद्रिक नीति में बढ़ती सख्ती आर्थिक संभावनाओं की बढ़त पर भारी पड़ रही है।”  



Source link

Leave a Reply