‘भारत और अमेरिका सबसे अच्छे दोस्त’, एक और हिंदी स्लोगन के साथ लौटे डोनाल्ड ट्रंप


Image Source : FILE PHOTO
Donald Trump

Donald Trump: अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (Donald Trump) एक और हिंदी नारे के साथ वापस आ गए हैं। उन्होंने इस बार ‘भारत और अमेरिका सबसे अच्छे दोस्त’ का नारा दिया है। ट्रंप ने हाल ही में अपने मार-ए-लागो आवास पर शिकागो के एक व्यवसायी, रिपब्लिकन डोनर और रणनीतिकार शलभ कुमार के लिए यह नया कैचफ्रेज रिकॉर्ड किया, जो 2016 में ट्रंप के पहले हिंदी नारे के पीछे भी थे: ‘अब की बार, ट्रम्प सरकार’, जो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चुनावी नारे ‘अब की बार, मोदी सरकार’ से प्रेरित था।

पीएम मोदी बहुत अच्छा काम कर रहे हैं- ट्रंप


बता दें कि शलभ कुमार 2016 से डोनाल्ड ट्रंप के साथ काम कर रहे हैं, लेकिन पूर्व राष्ट्रपति के कार्यकाल के अंत में उनके बीच चीजें अच्छी नहीं थी। कुमार ट्रंप के 2020 के चुनाव अभियान से दूर रहे, लेकिन वे हाल ही में पूर्व राष्ट्रपति के साथ एक इंटरव्यू में दिखाई दिए। इंटरव्यू में डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि मैं आगामी चुनाव लड़ने को लेकर बहुत जल्द फैसला लूंगा। साथ ही कहा कि मुझे लगता है कि मेरे इस फैसले से लोग बहुत खुश होंगे। इसी इंटरव्यू में ट्रंप ने कहा कि मेरे भारत और प्रधानमंत्री मोदी से बहुत अच्छे संबंध रहे हैं। मुझे लगता है कि पीएम मोदी बहुत अच्छा काम कर रहे हैं।

ट्रंप ने ‘सिर्फ तीन टेक’ में रिकॉर्ड किया नारा

वहीं, शलभ कुमार ने बताया कि ट्रंप, जो बिल्कुल भी हिंदी नहीं बोलते हैं, उनके लिए यह नारा रिकॉर्ड करना आसान नहीं था, उन्हें ‘भारत’ शब्द का सही उच्चारण करने में परेशानी होती थी। कुमार ने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति ने यह ‘सिर्फ तीन टेक’ में रिकॉर्ड कर लिया। पूर्व राष्ट्रपति अब फ्लोरिडा में अपने मार-ए-लागो क्लब रिसॉर्ट में रहते हैं।

कुमार ने विशेष रूप से नए नारे के बारे में चर्चा करते हुए कहा, “हम नवंबर में आगामी मध्यावधि चुनाव में नारे का उपयोग करेंगे।” उन्होंने कहा, नारे का उद्देश्य रिपब्लिकन के समर्थन में भारतीय/हिंदू अमेरिकी मतदाताओं को जुटाना है। भारतीय अमेरिकी स्विंग वाले राज्यों में एक महत्वपूर्ण वोट बैंक के रूप में उभरे हैं, जहां चुनाव परिणाम एक हजार या कुछ हजारों के रूप में महीन मार्जिन पर बदल सकते हैं।

भारतीय अमेरिकियों को लुभा रही डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन पार्टियां

भारतीय अमेरिकी समुदाय चार मिलियन से ज्यादा हो गया है। कहा जाता है कि यह कुल आबादी का 1 प्रतिशत से थोड़ा ज्यादा है। डेमोक्रेटिक और रिपब्लिकन दोनों पार्टियां अब भारतीय अमेरिकियों को आक्रामक तरीके से लुभाती हैं। कुमार ने कहा कि ट्रंप का नारा एक विज्ञापन में दिखाया जाएगा जो ज्यादातर भारतीय अमेरिकियों द्वारा देखे जाने वाले टीवी चैनलों पर चलेगा।

बता दें कि शलभ कुमार 2016 से डोनाल्ड ट्रंप के साथ काम कर रहे हैं, लेकिन पूर्व राष्ट्रपति के कार्यकाल के अंत में उनके बीच चीजें अच्छी नहीं थी। कुमार ट्रंप के 2020 के चुनाव अभियान से दूर रहे, लेकिन वे हाल ही में पूर्व राष्ट्रपति के साथ एक इंटरव्यू में दिखाई दिए।

Latest World News





Source link

Leave a Reply