Queen Elizabeth II Death: ब्रिटेन के इतिहास में किसी शासक के सबसे लंबे समय तक किये गये शासन का अंत | News & Features Network


Queen Elizabeth II Death: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का 96 वर्ष की आयु में देहांत हो गया. अब ऐसे में यूनाइटेड किंगडम के अगले 10 दिन काफी उथल-पुथल रहने की आशंका जतायी जा रही है. इन दस दिनों के भीतर ही राष्ट्र अपने एक रानी को दफनाएगा, अपने सबसे लंबे समय तक शासन करने वाली सम्राट का शोक मनायेगा और एक नये राजा की घोषणा की घोषणा की जाएगी.

अब ऐसे में एलिजाबेथ के चार बच्चों में सबसे बड़े प्रिंस चार्ल्स को सैकड़ों साल पुराने एक समारोह में औपचारिक रूप से राजा घोषित किया जाएगा. प्रिंस चार्ल्स 73 वर्ष की उम्र में ब्रिटिश इतिहास में सिंहासन ग्रहण करने वाले सबसे उम्रदराज व्यक्ति होंगे.

Prime Minister Narendra Modi  ने क्‍वीन एलिजाबेथ (Queen Elizabeth) के निधन पर शोक जताया है. उन्‍होंने ट्वीट करते हुए कहा है कि ‘ उन्हें हमारे समय की महान शख्सियत के रूप में याद किया जाएगा. उन्होंने अपने देश और लोगों को प्रेरक नेतृत्व प्रदान किया. उन्होंने सार्वजनिक जीवन में गरिमा और शालीनता का परिचय दिया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि 2015 और 2018 में यूके की अपनी यात्राओं के दौरान महारानी एलिजाबेथ-2 के साथ यादगार मुलाकातें हुईं. मैं उनकी गर्मजोशी और दयालुता को नहीं भूलूंगा. एक बैठक के दौरान उन्होंने मुझे वह रूमाल दिखाया जो महात्मा गांधी ने उन्हें उनकी शादी में उपहार में दिया था. मैं इसको हमेशा याद रखूंगा.

ब्रिटेन की सबसे लंबे समय तक राज करने वाली शाही शख्सियत एलिजाबेथ, जिन्होंने इस साल सिंहासन पर 70 साल पूरे किये, ब्रिटिश इतिहास में सबसे उम्रदराज और सबसे लंबे समय तक राज करने वाली महारानी हैं. सितंबर 2015 में उन्होंने अपनी परदादी महारानी विक्टोरिया को पीछे छोड़ दिया, जिन्होंने 63 साल और सात महीने तक शासन किया. 2016 में, एलिजाबेथ थाईलैंड के राजा भूमिबोल अदुल्यादेज के निधन के बाद दुनिया में सबसे लंबे समय तक राज करने वाली महारानी भी बनीं.

2022 में, वह 17वीं शताब्दी के फ्रांसीसी राजा लुई चौदहवें के बाद विश्व इतिहास में दूसरी सबसे लंबे समय तक राज करने वाली महारानी बनीं. लुई चौदहवें ने चार साल की उम्र में सिंहासन संभाला था. एलिजाबेथ और विक्टोरिया के अलावा, ब्रिटिश इतिहास में केवल चार अन्य सम्राटों ने 50 साल या उससे अधिक समय तक शासन किया है: जॉर्ज तृतीय (59 वर्ष), हेनरी तृतीय (56 वर्ष), एडवर्ड तृतीय (50 वर्ष) और स्कॉटलैंड के जेम्स षष्ठम (58 वर्ष).

शाही परिवार द्वारा जारी एक बयान में नये सम्राट चार्ल्स ने कहा, ‘मेरी प्यारी मां, महामहिम महारानी का निधन, मेरे और मेरे परिवार के सभी सदस्यों के लिए गहरे दुख का क्षण है. मुझे पता है कि उनके जाने के दुख को देश और राष्ट्रमंडल तथा दुनिया भर के अनगिनत लोगों द्वारा गहराई से महसूस किया जायेगा.’ चार्ल्स (73) ने कहा, ‘हम महारानी और प्यारी मां के निधन पर बेहद शोक संतप्त हैं.’

अपने समय और पहले के कई राजघरानों की तरह, एलिजाबेथ कभी भी पब्लिक स्कूल नहीं गईं और कभी भी अन्य छात्रों के संपर्क में नहीं आईं. इसके बजाय, उन्होंने अपनी छोटी बहन मार्गरेट के साथ घर पर ही शिक्षा-दीक्षा ली. उन्हें पढ़ाने वालों में उनके पिता और ईटन कॉलेज के एक वरिष्ठ शिक्षक के साथ कई फ्रांसीसी गुरु शामिल थे. कैंटरबरी के आर्कबिशप ने उन्हें धर्म का पाठ पढ़ाया था. एलिजाबेथ की स्कूली शिक्षा में घुड़सवारी, तैराकी, नृत्य और संगीत का अध्ययन भी शामिल था.

‘द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान, युवा राजकुमारी एलिजाबेथ को संक्षिप्त रूप से नंबर 230873, सेकंड सबाल्टर्न एलिजाबेथ एलेक्जेंड्रा मेरी विंडसर ऑफ द ऑक्जिलियरी ट्रांसपोर्ट सर्विस नंबर 1 के रूप में जाना जाने लगा. युद्ध के दौरान कुछ करने के प्रयासों के लिए अपने माता-पिता की अनुमति मिलने के बाद उन्होंने एम्बुलेंस और ट्रक चलाना सीखा. वह कुछ महीनों के भीतर मानद जूनियर कमांडर के पद तक पहुंच गईं.

 





Source link

Leave a Reply