Wrestling Championship: विनेश फोगाट ने जीता कांस्य, इस टूर्नामेंट में दो पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला

[ad_1]

ख़बर सुनें

महिला पहलवान विनेश फोगाट ने बेलग्रेड में चल रहे वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में कांस्य पदक अपने नाम किया है। उनका यह वर्ल्ड चैंपियनशिप में दूसरा पदक है। इससे पहले उन्होंने नूर सुल्तान वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी कांस्य पदक ही जीता था। विनेश दो विश्व चैंपियनशिप पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बन गई हैं। उन्होंने 53 किग्रा फ्रीस्टाइल स्पर्धा में स्वीडन की जोना मालमग्रेन को 8-0 से हराकर कांस्य पदक जीता।
इससे पहले 10वीं वरीयता प्राप्त विनेश फोगाट को मंगलवार को क्वालिफिकेशन राउंड में हार का सामना करना पड़ा था। उन्हें क्वालिफिकेशन राउंड में मंगोलिया की खुलान बतखुयाग ने 7-0 से हरा दिया था। संयोगवश वर्ल्ड चैंपियनशिप के लिए विनेश ने सेलेक्शन ट्रायल्स में जिस जूनियर रेसलर अंतिम को हराया था, उसने पिछले महीने हुए अंडर-23 एशियन मीट में मंगोलियन पहलवान को हराया था। हालांकि, विनेश उस मंगोलियन पहलवान से पार नहीं पा सकीं।


वर्ल्ड चैंपियनशिप की पूर्व सिल्वर मेडलिस्ट अंशु मलिक की गैरमौजूदगी में विनेश स्वर्ण की प्रबल दावेदार थीं। उन्हें डिफेंडिंग चैंपियन जापान की अकारी फुजिनामी के चोटिल होकर नाम वापस लेने के बाद टूर्नामेंट में अनुकूल ड्रॉ भी मिला था। हालांकि, विनेश क्वालिफिकेशन राउंड में ही हार गईं थीं। 
क्वालिफिकेशन राउंड में हार के बाद विनेश को रैपचेज राउंड खेलना पड़ा। उनको क्वालिफिकेशन राउंड में हराने वालीं मंगोलियन पहलवान फाइनल में पहुंचीं थीं। ऐसे में विनेश को रैपचेज राउंड में पहुंचने का मौका मिला। रैपचेज राउंड के पहले मैच में उन्होंने कजाकिस्तान की ज़ुल्दिज एशिमोवा को पिनफॉल (4-0) के फैसले से हराया।
इसके बाद अगले मुकाबले में उनकी प्रतिद्वंद्वी अजरबैजान की लेयला गुरबानोवा चोट की वजह खेलने नहीं आईं। ऐसे में विनेश कांस्य पदक के मुकाबले में पहुंच गईं। कांस्य पदक के मुकाबले में उन्होंने स्वीडन की पहलवान को कोई मौका नहीं दिया और जीत हासिल की।
विनेश के अलावा भारत को वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में कुछ खास परिणाम नहीं मिला है। 50 किलोग्राम भारवर्ग में नीलम सिरोही को दो बार की वर्ल्ड सिल्वर मेडलिस्ट रोमानिया की एमिलिया एलीना ने 10-0 से तकनीकी दक्षता के आधार पर हराया।
वहीं, फ्रांस की कूंबा लरोक, जो कि चोटिल घुटने के साथ मैट पर उतरी थीं, उन्होंने 65 किलोग्राम भारवर्ग में भारत की शेफाली को तकनीकी दक्षता के आधार पर हरा दिया। अप्रैल में एशियाई चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली सुषमा शौकीन महिलाओं के 55 किग्रा में रेपेचेज दौर में मोल्दोवा की मारियाना ड्रैगुटन से हार गईं। वहीं, निशा को 68 किलोग्राम भारवर्ग में एमी ओशी के खिलाफ 5-4 से हार का सामना करना पड़ा।
विनेश ने राष्ट्रमंडल खेलों में तीन स्वर्ण जीता है। उन्होंने 2014 राष्ट्रमंडल खेलों में कुश्ती के 48 किलोग्राम भारवर्ग और 2018 राष्ट्रमंडल खेलों में 50 किलोग्राम भारवर्ग में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। इसके बाद इस साल भी विनेश ने राष्ट्रमंडल खेलों में 53 किलोग्राम भारवर्ग में भी स्वर्ण जीता था।

उन्होंने इस वर्ल्ड चैंपियनशिप से पहले 2019 नूर सुल्तान वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी कांस्य जीता था। विनेश दो बार की एशियन गेम्स पदक विजेता भी रह चुकी हैं। उन्होंने 2018 जकार्ता एशियन गेम्स में स्वर्ण और 2014 इंचियोन एशियन गेम्स में कांस्य जीता था। 

इसके अलावा एशियन चैंपियनशिप में विनेश सात पदक जीत चुकी हैं। इनमें एक स्वर्ण (2021), तीन रजत (2015, 2017, 2018) और चार कांस्य (2013, 2016, 2019, 2020) जीता है। वह 2013 जोहानिसबर्ग यूथ रेसलिंग चैंपियनशिप में रजत पदक जीत चुकी हैं। 

विस्तार

महिला पहलवान विनेश फोगाट ने बेलग्रेड में चल रहे वर्ल्ड रेसलिंग चैंपियनशिप में कांस्य पदक अपने नाम किया है। उनका यह वर्ल्ड चैंपियनशिप में दूसरा पदक है। इससे पहले उन्होंने नूर सुल्तान वर्ल्ड चैंपियनशिप में भी कांस्य पदक ही जीता था। विनेश दो विश्व चैंपियनशिप पदक जीतने वाली पहली भारतीय महिला पहलवान बन गई हैं। उन्होंने 53 किग्रा फ्रीस्टाइल स्पर्धा में स्वीडन की जोना मालमग्रेन को 8-0 से हराकर कांस्य पदक जीता।



[ad_2]

Source link

Leave a Reply