‘यूक्रेन संकट को जल्द खत्म करना चाहते हैं’, PM मोदी की चिंता पर दोस्त पुतिन ने दिया जवाब

[ad_1]

समरकंद: SEO समिट में रूस के राष्ट्रपति पुतिन के सामने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्लोबल सप्लाई चेन और खाद्य संकट का मुद्दा उठाया था। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि महामारी और यूक्रेन संकट से ग्लोबल सप्लाई चेन बाधित हुआ है, जिसके कारण दुनिया में अभूतपूर्व खाद्य संकट पैदा हो गया है। अब पीएम मोदी के इस बयान पर रूसी राष्ट्रपति पुतिन ने प्रतिक्रिया दी है। SCO समिट से अलग दोनों नेताओं के बीच मुलाकात हुई। इस मुलाकात के दौरान पुतिन ने कहा कि वह चिंताओं को समझते हैं।

पुतिन ने कहा कि वह चाहते हैं कि जल्द से जल्द यूक्रेन के साथ संघर्ष खत्म हो जाए। पुतिन ने भारत को आजादी के 75वें साल की बधाई के साथ बातचीत की शुरुआत की। उन्होंने ऑल द बेस्ट कहा। पुतिन ने आगे कहा, ‘भारत और रूस के संबंध लगातार बेहतर हो रहे हैं। हम लगातार जुड़े रहते हैं। अंतर्राष्ट्रीय मुद्दों पर भी हम इंगेज करते हैं। कई बार अच्छी खबर नहीं होती है। हमें यूक्रेन संघर्ष पर आपकी स्थिति के बारे में पता है साथ ही मुझे आपकी चिंताओं के बारे में भी पता है। आपने उन्हें शेयर भी किया है।’

रूस आने का दिया निमंत्रण
पुतिन ने कहा, ‘हम चाहते हैं कि यूक्रेन का संघर्ष जल्द से जल्द खत्म हो। लेकिन यूक्रेन की लीडरशिप इससे पीछे हट रही है। वह चीजों को सैन्य तरीके से ही सुलझाना चाहते हैं।’ पुतिन ने पीएम मोदी से कहा, ‘ये अच्छी बात है कि हम अलग-अलग मुद्दों पर बातचीत करते रहते हैं। कोरोना वायरस के दौरान हमने चार बार फोन से बातचीत की। हमारी टीम भी आपस में काम कर रही है। दिल्ली की मेरी आखिरी यात्रा मुझे याद है और में इस मौके पर आपको रूस आने का निमंत्रण देता हूं।’
‘मरते हुए’ CPEC को जिंदा करने की कोशिश, शहबाज शरीफ और शी जिनपिंग मिले, पाकिस्तान ने चीन को बताया सच्चा दोस्त
जन्मदिन की नहीं दे सकता बधाई- पुतिन
इसके साथ उन्होंने कहा, ‘मैं ये भी जानता हूं मेरे प्रिय मित्र आप कल अपना जन्मदिन मनाएंगे। रूस की परंपरा में हम कभी भी एडवांस में बधाई नहीं देते हैं। इसलिए मैं ऐसा नहीं कर सकता। लेकिन मैं मित्र राष्ट्र भारत को आपके नेतृत्व में भविष्य के लिए बधाई देता हूं।’ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 17 सितंबर को अपना 72वां जन्मदिन मनाएंगे।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply