Queen Elizabeth II: लंदन लाया गया दिवंगत महारानी का ताबूत, बड़ी संख्या में श्रद्धांजलि देने उमड़े लोग

[ad_1]

ख़बर सुनें

ब्रिटेन की दिवंगत महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का ताबूत मंगलवार को स्कॉटलैंड के एडिनबर्ग से लंदन पहुंचा, जहां से इसे बकिंघम पैलेस ले जाया जाएगा। इस दौरान महारानी को श्रद्धांजलि देने के लिए रास्ते में हजारों लोगों की भीड़ एकत्र रही। सोमवार को उनके चारों बच्चों-किंग चार्ल्स तृतीय, राजकुमारी एनी, प्रिंस एंड्रयू और प्रिंस एडवर्ड की मौजूदगी में उनका ताबूत एडिनबरा के सेंट गाइल्स चर्च ले जाया गया था। इस दौरान उनके अंतिम दर्शन के लिए चर्च के बाहर बड़ी संख्या में लोग जुटे थे।

आज निकाली जाएगी शवयात्रा
मंगलवार शाम रॉयल एयरफोर्स (आरएएफ) के एक विमान के जरिये महारानी का ताबूत एडिनबर्ग से लंदन लाया गया। विमान में राजकुमारी एनी भी सवार रहीं। महारानी का ताबूत रात भर बकिंघम पैलेस के ‘बो रूम’ में रखा जाएगा, जहां शाही परिवार के सदस्य उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। बुधवार को एक शव यात्रा निकाली जाएगी, जिसके तहत महारानी के ताबूत को बकिंघम पैलेस से वेस्टमिंस्टर एबे (संसद परिसर) ले जाया जाएगा। महारानी का राजकीय अंतिम संस्कार 19 सितंबर को वेस्टमिंस्टर एबे में होगा।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के दर्शन के लिए लंदन में पहले से कई होटलों में बुकिंग हो चुकी थी। इसके अलावा यातायात विभाग द्वारा भी पहले से ही लोगों को कहा गया कि वे सड़कों पर जाम से बचने के लिए अपने वाहन लेकर न निकलें। बता दें कि महारानी के अंतिम दर्शन के लिए सुबह से ही लोग सड़कों पर दिखे।

अंतिम संस्कार में जुटेंगे दुनिया के 500 अतिविशिष्ट व्यक्ति
ब्रिटिश अधिकारियों के मुताबिक, महारानी के अंतिम संस्कार में भाग लेने के लिए दुनिया के 500 अतिविशिष्ट विदेशी नागरिकों के जुटने की संभावना है। इसके लिए रूस, बेलारूस और म्यांमार को आमंत्रण नहीं भेजा गया है।

विस्तार

ब्रिटेन की दिवंगत महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का ताबूत मंगलवार को स्कॉटलैंड के एडिनबर्ग से लंदन पहुंचा, जहां से इसे बकिंघम पैलेस ले जाया जाएगा। इस दौरान महारानी को श्रद्धांजलि देने के लिए रास्ते में हजारों लोगों की भीड़ एकत्र रही। सोमवार को उनके चारों बच्चों-किंग चार्ल्स तृतीय, राजकुमारी एनी, प्रिंस एंड्रयू और प्रिंस एडवर्ड की मौजूदगी में उनका ताबूत एडिनबरा के सेंट गाइल्स चर्च ले जाया गया था। इस दौरान उनके अंतिम दर्शन के लिए चर्च के बाहर बड़ी संख्या में लोग जुटे थे।

आज निकाली जाएगी शवयात्रा

मंगलवार शाम रॉयल एयरफोर्स (आरएएफ) के एक विमान के जरिये महारानी का ताबूत एडिनबर्ग से लंदन लाया गया। विमान में राजकुमारी एनी भी सवार रहीं। महारानी का ताबूत रात भर बकिंघम पैलेस के ‘बो रूम’ में रखा जाएगा, जहां शाही परिवार के सदस्य उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे। बुधवार को एक शव यात्रा निकाली जाएगी, जिसके तहत महारानी के ताबूत को बकिंघम पैलेस से वेस्टमिंस्टर एबे (संसद परिसर) ले जाया जाएगा। महारानी का राजकीय अंतिम संस्कार 19 सितंबर को वेस्टमिंस्टर एबे में होगा।

महारानी एलिजाबेथ द्वितीय के दर्शन के लिए लंदन में पहले से कई होटलों में बुकिंग हो चुकी थी। इसके अलावा यातायात विभाग द्वारा भी पहले से ही लोगों को कहा गया कि वे सड़कों पर जाम से बचने के लिए अपने वाहन लेकर न निकलें। बता दें कि महारानी के अंतिम दर्शन के लिए सुबह से ही लोग सड़कों पर दिखे।

अंतिम संस्कार में जुटेंगे दुनिया के 500 अतिविशिष्ट व्यक्ति

ब्रिटिश अधिकारियों के मुताबिक, महारानी के अंतिम संस्कार में भाग लेने के लिए दुनिया के 500 अतिविशिष्ट विदेशी नागरिकों के जुटने की संभावना है। इसके लिए रूस, बेलारूस और म्यांमार को आमंत्रण नहीं भेजा गया है।

[ad_2]

Source link

Leave a Reply